Health Tips

What is Cancer And It’s Symptoms

cancer
कैंसर के लक्षण और उपचार (Cancer symptoms and it’s remedy)

कैंसर(Cancer) एक जानलेवा बीमारी है. कैंसर जैसी घातक बीमारी का अगर समय से पहचान कर इलाज शुरू कर दिया जाए तो इससे बचा भी जा सकता है. लेकिन उसके लिए लोगों को यह जानना होगा कि इससे संबंधित कुछ लक्षण भी है. जिन्हें अनदेखा नहीं करना चाहिए तो दोस्तों आज का लेख हमारा इससे संबंधित है तो पूरा जरूर पढ़ें.

कैंसर क्या है (What is Cancer )?

कैंसर होने पर अनियंत्रित रूप से शरीर में कोशिका है, विभाजित होती रहती हैं. बहुत कम ही लोग होते हैं, जो इस बीमारी से उभर पाते हैं. यदि शरीर में किसी भी हिस्से में कैंसर है, तो वह उस हिस्से से होकर शरीर के अन्य हिस्सों में फैल जाता है. हम आपको बता दें कि कैंसर के 200 से अधिक प्रकार होते हैं. अत्यधिक कैंसर के नाम अंग उस कोशिका के नाम पर रखे जाते हैं जहां से वे विकसित होते हैं. जैसे कि:- बृहदान्त्त में शुरू होने वाला कैंसर पेट का कैंसर होता है, जो त्वचा की बेसल कोशिकाओं में उत्पन्न होता है उसे बेसल सेल कार्सिनोमा कैंसर कहते हैं.

कैंसर के प्रमुख चरण ?(Phases of cancer)

कैंसर के तीन प्रमुख चरण होते हैं जो निम्नलिखित हैं. (Three stages of cancer)
. कैंसर जब अपने प्रथम चरण और दूसरे चरण में होता है , तो कैंसर का ट्यूमर होता है. लेकिन यह आसपास के टिशूज की गहराइयों में नहीं फैलता है.
. दूसरी अवस्था में ट्यूमर बड़ा हो जाता है, और इस स्थिति में ट्यूमर विकसित हो जाता है. इस अवस्था के ट्यूमर की फैलने की संभावनाएं काफी ज्यादा बढ़ जाती हैं.
. तीसरा चरण कैंसर की लास्ट स्टेज होती है. इस अवस्था में कैंसर अपने विकसित क्षेत्र से शरीर के संपूर्ण अंग तक फैल जाता है. जिसे विकसित कैंसर या मेटास्टैटिक कैंसर भी कहते हैं.

कैंसर के लक्षण ?(Cancer symptoms)

जैसा कि हमने आपको बताया कैंसर के 200 से ज्यादा लक्षण होते हैं. जिनके बारे में विवरण करना बहुत ही कठिन है. परंतु हम कुछ ऐसे कैंसर के लक्षण बताने वाले हैं, जो स्त्री और पुरुष दोनों में सामान्य लक्षण के रूप में नजर आ सकते हैं. जो निम्नलिखित दर्शाए गए हैं.

स्तनों में बदलाव

अगर हम कॉमन कैंसर के लक्षणों की बात करें तो ब्रेस्ट कैंसर कुछ इसी प्रकार का कैंसर होता है, जो महिला और पुरुष दोनों ही इसके शिकार होते हैं. इसके बहुत से लक्षण हैं. जैसे :- स्तन में गांठ , निप्पल के रंग में परिवर्तन, निप्पल में खुजली, निप्पल अंदर की ओर मुड़ना इत्यादि. जरूरी नहीं है कि इस तरह के लक्षण लिखने से आप इनको ब्रेस्ट कैंसर का पक्का सबूत ही मांग ले. कभी-कभी ऐसे लक्षण हारमोंस में बदलाव या स्वास्थ संबंधी अन्य कारणों से भी हो सकते हैं. इसीलिए यह सबसे जरूरी है कि डॉक्टर से मिलकर इसकी जांच करा ले.
cancer

नाखूनों में परिवर्तन

अचानक से नाखूनों में होने वाले अविश्वसनीय विभिन्न प्रकार के बदलाव कैंसर के संकेत हो सकते हैं. यदि नाखून पर कालिया भूरी या डॉट स्किन का संकेत दिखे तो यह कैंसर की तरफ इशारा कर सकती हैं. इसी तरह नाखूनों के अंतिम शिरो का बड़ा होना लंग कैंसर की तरफ संकेत कर सकता है. यदि इसी तरह सफेद या पीले नाखून के रंग में बदलाव आए तो या अभी लंग कैंसर की तरफ इशारा करता है.

चेहरे पर सूजन होना

लंग कैंसर से पीड़ित मरीजों ने बताया, कि उन्हें चेहरे पर सूजन एवं रेडमी की समस्या रहती है. इस तरह की शिकायत के होने का कारण यह है कि लंग ट्यूमर के छोटे-छोटे सेल्स छाती के रक्त धमनियों को ब्लॉक कर देते हैं. ऐसा होने की वजह से चेहरे से लेकर सर तक रक्त प्रवाह में बाधा उत्पन्न होने लगती है. इस तरह के संकेतों का दिखने का मतलब भी लंग कैंसर हो सकता है.

भूख ना लगना

भूख ना लगने का कारण ओवेरियन कैंसर भी हो सकता है. यदि आपको बहुत देर तक खाने के बाद भी भूख ना महसूस हो और पेट हमेशा भरा भरा लगे तो यह ओवेरियन कैंसर के शुरुआती लक्षण भी हो सकते हैं.

गले में परेशानी महसूस होना

कभी-कभी ऐसा होता है, कि गला सूखने लगता है या फिर गले में सूजन होने लगती है. और इनकी वजह से खाना खाने और पानी पीने में भी समस्या होने लगती है. ऐसा होने का कारण तो गले में इंफेक्शन की वजह से भी हो सकता है. लेकिन अगर यह समस्या लंबे समय तक बनी रही तो मुंह या गले का कैंसर के संकेत भी हो सकते हैं. इस वजह से एक बार डॉक्टर से जरूर सलाह ले

वजन में कमी होना

यदि अचानक बिना किसी कारण कि वजन में गिरावट आ जाए तो इसके अन्य संकेत भी हो सकते हैं. परंतु पैनक्रियाटिक, लंग या स्टमक कैंसर की भी समस्या के भी लक्षण हो सकते हैं. इसलिए इनको पूरी तरीके से नजरअंदाज नहीं किया जा सकता है.
यह भी पढ़े :-
वजन बढ़ाने और मोटा होने का आसान तरीका
How To Improve Immunity System ( शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता मजबूत कैसे करे ? )

कैंसर के इलाज ?(Treatments of cancer)

कैंसर जैसी जानलेवा बीमारी का अगर शुरू में ही इलाज शुरू कर दिया जाए तो इससे बचा जा सकता है, इसके कुछ इलाज हमने वर्णित किए हैं जो निम्नलिखित हैं.

कैंसर में कीमोथेरेपी का इलाज

कैंसर सेल को कीमोथेरेपी के जरिए खत्म किया जा सकता है. इस थेरेपी में दवाइयों और कुछ ड्रग्स का उपचार के लिए प्रयोग किया जाता है. कुछ कीमोथेरेपी में नसों में सुईओं को लगाकर इलाज किया जाता है. दवाइयों का भी प्रयोग कीमोथेरेपी में कैंसर के इलाज के लिए किया जाता है. इस उपचार के माध्यम से पूरे शरीर में हो रहे कैंसर को ठीक किया जा सकता है.

सर्जरी

सर्जरी के जरिए कैंसर से संक्रमित क्षेत्र को शरीर से बाहर निकाल दिया जाता है. यदि ब्रेस्ट कैंसर है तो सर्जरी करने पर ब्रेस्ट को शरीर से बाहर निकाल दिया जाता है. सर्जरी के जरिए जहां तक संभव है वहां तक संक्रमित एरिया को शरीर से बाहर किया जाता है. परंतु हर तरह के कैंसर में सर्जरी संभव नहीं. जैसे ब्लड कैंसर होने पर सिर्फ इसे दवाइयों के द्वारा ही रोका या ठीक किया जा सकता है.

रेडिएशन के जरिए

आज के इस आधुनिक उपचार में रेडिएशन का प्रयोग करके कैंसर सेल को बढ़ने से रोकने और उनको खत्म भी किया जा सकता है. मानव शरीर को रेडिएशन में एक्सरे मशीन के अंदर डाला जाता है. जिससे कैंसर सेल खत्म हो जाती है.

Leave a Comment

3 Comments