Health Tips

Loss And Benefits Of Eating Meat

benefits and loss of eating meat
Written by lajawabhindi.com

हमारे शरीर को फिट रहने के लिए एक संतुलित आहार (balanced diet) की जरूरत होती है। एक संतुलित आहार में सब कुछ आता है जैसे उसमें सही मात्रा में विटामिंस, मिनरल्स, कार्बोहाइड्रेट्स(carbohydrates), प्रोटीन, आयरन, आदि होना चाहिए। इसी को देखते हुए पिछले कुछ बरसों में मीट(Meat) खाने का चलन तेजी से बढ़ा है। पहले केवल कुछ ही लोग मीट खाते थे। लेकिन अब काफी लोग अपने शरीर को फिट(fit) रखने के लिए मीट खाने लगे हैं। बहुत से लोग ऐसे भी हैं जो केवल स्वाद के लिए मीट खाते हैं। Mac Donalds एवं Dominos वगैरा के आ जाने से इसमें काफी वृद्धि हुई है।
अधिकतर sportsman अपने शरीर को तंदुरुस्त (fit) रखने के लिए मीट खाते ही है। मीट हमारे शरीर को अतिरिक्त ऊर्जा(extra energy) प्रदान करता है। तो मीट खाने के बहुत से फायदे(Benefits) हैं लेकिन उसके साथ साथ इसके कुछ नुकसान भी है। दोनों ही चीज आज हम आपको विस्तार(elaborate) से बताएंगे।
मीट खाने के फायदे

मीट खाने से फायदे (Benefits of eating meat)

मीट मसल्स(Muscles) बनाने के लिए सबसे ज्यादा उपयोगी चीज है। जो बॉडी बिल्डर्स(Body Builders) होते हैं और काफी स्पोर्ट्समैन मीट जरूर खाते हैं। चूँकि उनको मजबूत मसल्स(Muscles) की जरूरत होती है और उनको अपना खेल दिखाने के लिए अतिरिक्त ऊर्जा की जरूरत होती है।
मीट में मौजूद प्रोटीन(Protein) हमारे शरीर की मसल्स का निर्माण एवं उनको रिपेयर(repair) करने में मदद करता है। जो व्यक्ति मसल्स बनाना चाहते हैं उनको अपने आहार में प्रोटीन(Protein) का सेवन जरूर करना चाहिए। यह प्रोटीन उनको आसानी से मीट मिल जाता है। मीट में कई विटामिंस(vitamins) भी होते हैं जो हमारी हड्डियों को मजबूत करने में मदद करते हैं।

* मछली का मीट हमारे दिमाग(Brain) के लिए काफी फायदेमंद रहता है। मछली का मीट हमारी याददाश्त(memory) मजबूत करता है और दिमाग के सोचने समझने की क्षमता को भी बढ़ाता है। इसके अलावा इसमें काफी ऐसे मिनरल्स(Minerals) पाए जाते हैं जो हमारी एकाग्रता(concentration) को बढ़ाते हैं। इसलिए मछली खाना विद्यार्थियों(students) को काफी फायदेमंद साबित हो सकता है।

विभिन्न प्रकार का मीठा में कई प्रकार के दिल के रोगों से बचाता है। सीफ़ूड(Sea food) में पाए जाने वाले Omega-3 फैटी एसिड(fatty acid) हृदय को स्वस्थ रखता है और cardiovascular malfunction की चिंता को कम करता है।  इसका नियमित रूप से सेवन करने से दिल के दौरे जैसे जोखिम भरी बीमारियों से बचा जा सकता है।

* मीट हमारे इम्यून सिस्टम (immune system) के लिए काफी अच्छा रहता है। कई प्रकार के मीट में जस्ता(Jasta) की अधिक मात्रा पाई जाती है। जस्ता की एंटी ऑक्सीडेंट(anti oxidant) गुणों के कारण यह एंटीबॉडी बनाने के काम आता है। जो की बीमारी फैलाने वाले कीटाणुओं(germs) से लड़ने में हमारी मदद करता है। अतः हमारे इम्यून सिस्टम को काफी मजबूत करता है मीट(meat)।
यह भी पढ़े :-
How To Improve Immunity System ( शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता मजबूत कैसे करे ? )
* नीम (Neem) क्या है ? नीम के फायदे और नुकसान
इसके साथ ही मीट हमारी पाचन क्रिया(digestive system) को मजबूत करने में भी हमारी मदद करता है। मीट में कई प्रकार के अमीनो एसिड(amino acid) होते हैं। चूँकि अमीनो एसिड हमारा शरीर नहीं बनाता है और इसको हमें बाहर के खाने से ही लेना पड़ता है। तो यह अमीनो एसिड(amino acid) लेने के लिए मीट बेहद उपयोगी चीज है।

* विभिन्न प्रकार के मीट हमारे शरीर के अंदर blood circulation मे मदद करते हैं। अलग अलग मीट में आयरन(iron) पाया जाता है जोकि शरीर के ब्लड सर्कुलेशन(blood circulation) में काफी मदद करता है। आयरन(iron) की कमी से हमारे शरीर में कई बीमारियां हो सकती हैं। जैसे आयरन की कमी से शुरू हमारे शरीर में थकान रहती है और एकाग्रता(concentration) भी कम होती है। इन बीमारियों से मीट का सेवन हमें बचाता है।

मीट खाने के नुकसान

मीट खाने के नुकसान (Losses of eating meat)

हमारा शरीर मीट को काफी देर में पचा(digest) पाता है। एक सामान्य पुरुष(Normal Male) को मीट पचाने के लिए 33 से 40 घंटे लगते हैं। वहीं एक सामान्य महिला(Normal Female) को इसे पचाने के लिए 50 से 55 घंटे लगते हैं। इसके साथ यह इस बात पर भी निर्भर करता है कि किस की पाचन क्रिया(digestive system) कितनी तेज है। वही हरी सब्जियां(Green vegetables) को पचाने में इतना समय नहीं लगता है।

* मीट में अधिक मात्रा में यूरिक एसिड(Uric Acid) पाया जाता है। जो हमारे शरीर के अन्दर जमा होकर गठिया जैसे कई रोगों को पैदा कर सकता है। इसलिए हमें मीट को ज्यादा नहीं खाना चाहिए।

UCLA के एक हालिया अध्ययन के मुताबिक मीट में आयरन(iron) की बहुत अच्छी मात्रा पाई जाती है। इसलिए इसके अधिक सेवन से मस्तिष्क में लोहे(iron) का स्तर बढ़ सकता है जो कि हमारे लिए बिल्कुल ठीक नहीं है। इससे कई रोग हो सकते हैं।

* जिसका मीट(Meat) आप खा रहे हैं उसको कुछ बीमारी हो सकती है। मीट खरीदते वक्त हम को यह पता भी नहीं लगता। तो इससे भी हमको कई नुकसान हो सकते हैं। अतः हमको मीट(Meat) हमेशा अच्छी जगह से ही खरीदना चाहिए।

About the author

lajawabhindi.com

Leave a Comment