Shayari Uncategorized

भगत सिंह के अनमोल वचन

bhagat singh

शहीद भगत सिंह के अनमोल वचन | Shaheed Bhagat Singh Quotes In Hindi

__#1__

bhagat singh quotes

व्यक्तियो को कुचल कर , वे विचारों को नहीं मार सकते।
क्रांति मानव जाती का एक अपरिहार्य अधिकार है. स्वतंत्रता सभी का एक कभी न ख़त्म होने वाला जन्म-सिद्ध अधिकार है. श्रम समाज का वास्तविक निर्वाहक है।

__#2__

bhagat singh quotes

ज़िन्दगी तो अपने दम पर ही जी जाती हैं
दूसरो के कन्धों पर तो सिर्फ जनाजे उठाये जाते हैं।

__#3__

कोई भी व्यक्ति जो जीवन में आगे बढ़ने के लिए तैयार खड़ा हो उसे हर एक रूढ़िवादी चीज की आलोचना करनी होगी, उसमे अविश्वास करना होगा और चुनौती भी देना होगा।

__#4__

bhagat singh quotes
निष्ठुर आलोचना और स्वतंत्र विचार, ये क्रांतिकारी सोच के दो अहम् लक्षण हैं।

__#5__

bhagat singh quotes

बम और पिस्तौल कभी भी क्रांति नहीं लाते। क्रांति कि तलवार तो विचारों के पत्थर से तेज किया जाता है।

__#6__

इंसान तभी कुछ करता है जब वो अपने काम के ओचित्य को लेकर सुनिश्चित होता है, जैसाकि हम विधान सभा में बम फेकने को लेकर थे.

__#7__

bhagat singh quotes

मैं एक मानव हूँ और जो कुछ भी मानवता को प्रभावित करता है उससे मुझे मतलब है.

__#8__

bhagat singh quotes

“प्रेमी, कवि और पागल एक ही चीज़ से बने होते हैं। क्योंकि लोग अक्सर देशप्रेमी को पागल कहते है।”

__#9__

bhagat singh quotes

“इंसानों को तो मारा जा सकता है, पर उनके विचारों को नहीं।”

__#10__

bhagat singh quotes

खुशी से दिल को आबाद करना,
“स्वतंत्रता हर इंसान का कभी न ख़त्म होने वाला जन्म सिद्ध अधिकार है।”

यह भी पढ़े :- Best Motivational

__#11__

“बुराई इसलिए नहीं बढ़ रही है कि बुरे लोग बढ़ गए है बल्कि बुराई इसलिए बढ़ रही है क्योंकि बुराई सहन करने वाले लोग बढ़ गये है।” – भगत सिंह Bhagat Singh

__#12__

bhagat singh quotes

“मेरा एक ही धर्म है, और वो है देश की सेवा करना।” – भगत सिंह Bhagat Singh

__#13__

आम तौर पर लोग चीजें जैसी हैं उसके आदि हो जाते हैं और बदलाव के विचार से ही कांपने लगते हैं। हमें इसी निष्क्रियता की भावना को क्रांतिकारी भावना से बदलने की ज़रुरत है.

__#14__

bhagat singh quotes

“अपने दुश्मन से बहस करने के लिये उसका अभ्यास करना बहोत जरुरी है।”~ भगत सिंह

__#15__

bhagat singh quotes

“लिख रह हूँ मैं अंजाम जिसका कल आगाज़ आएगा… मेरे लहू का हर एक कतरा इंकलाब लाएगा।“ ~ भगत सिंह

__#16__

bhagat singh quotes

“यदि बहरों को सुनाना है तो आवाज़ को बहुत जोरदार होना होगा।“ ~ भगत सिंह

Leave a Comment