Kya Aur Kyu Science Facts

Acid Rain In Hindi (एसिड रेन किसे कहते हैं)

acid rain in hindi
एसिड रेन किसे कहते हैं ?(What is acid rain)

यदि आप किसी सरकारी नौकरी पाने के लिए या फिर किसी अन्य प्रकार के कंपटीशन की तैयारी कर रहे हैं, तो आपको यह जान लेना जरूर चाहिए कि आखिर एसिड रेन किसे कहते हैं? यह विज्ञान से संबंधित महत्वपूर्ण प्रश्नों में से एक है . यह छोटा सा प्रश्न आपके लिए बड़ी समस्या पैदा कर सकता है. आज हमारा लेख इसी से संबंधित है, कि आखिर एसिड रेन किसे कहते हैं ?

एसिड रेन किसे कहते हैं ?

जैसे-जैसे प्रदूषण में वृद्धि हो रही है, वैसे- वैसे ही प्राकृतिक वर्षा ना सिर्फ मानव बल्कि, पौधे और जानवरों के लिए भी जहर में बदल रही है. एसिड रेन एक प्रकार की बारिश ही होती है, परंतु इसके पानी में अधिक मात्रा में एसिड की उपस्थिति होती है. वायु प्रदूषण के कारण ही एसिड रेन जैसी समस्याएं उत्पन्न होने लगी हैं. साधारण पानी जिसको हम पीने के लिए प्रयोग में लेते है, उस का पीएच मान ( pH value) 7 होता है. यदि पानी का पीएच मान ( pH value) 7 से कम हो जाता है, तो वह अम्लीय हो जाता है, क्योंकि अम्ल पीएच मान( pH value) से कम होता है.

एसिड रेन का पीएच मान ( pH value) कितना होता है ?(Ph value of acid rain)

जैसा कि आप सभी जानते हैं, कि वर्षा का पानी सबसे शुद्ध होता है, और इसका पीएच मान लगभग 5 से 6 के बीच में होता है. वर्षा के पानी का अम्लीय होने का प्रमुख कारण इसमें CO2 , NO, और SO2 पदार्थ मिलने से होता है. एसिड रेन में पानी का मान पीएच 4 ( pH value) होता है.

एसिड रेन के होने के नुकसान ? (Loses of acid rain)

. एसिड रेन के संपर्क में आने से मानव शरीर पर दाने निकल आते हैं ,और सांसो से जुड़ी बीमारियां भी हो सकती है. ज्यादातर यह बारिश मनुष्य के दिल और फेफड़ों के लिए बहुत ही घातक है.
. एसिड रेन का सबसे बुरा असर फसलों पर होता है, इससे फसलों की पैदावार में काफी गिरावट आ जाती है. इससे किसानों को फसल उत्पादन में समस्या होती है.
. एसिड रेन का पानी जब तालाबों और नदियों के पानी से मिलता है, तो उसे भी खराब कर देता है. जिससे पानी में मौजूद मछली एवं अन्य प्रकार के जीव जंतुओं पर बहुत ही बुरा असर होता है. यहां तक कि इसकी वजह से तालाब में या नदी में मौजूद कई कई तरह की मछलियां मर जाती हैं.
. आगरा में मौजूद ताजमहल का स्मारक इसी की वजह से इसमें लगे संगमरमर अपनी सफेदी खोता जा रहा है.

. एसिड रेन का खतरनाक पानी धरती के अंदर उपस्थित जलस्रोत में जाकर उसे भी पीने योग्य नहीं रहने देता है.

acid rain

. अनेक देशों में वनों का क्षेत्र दिन पर दिन नष्ट होता चला जा रहा है.

. एसिड रेन का बुरा असर मानव स्वास्थ्य पर भी पड़ता है.

एसिड रेन को नियंत्रण करने के उपाय ?(How to control acid rain)

. पर्यावरण को साफ रखने वाली प्रणाली का प्रयोग करें. बड़ी बड़ी चिमनीओं से निकलने वाली सल्फर डाइऑक्साइड गैस को कम करने वाली किसी तकनीक का प्रयोग करना चाहिए.

. बड़ी-बड़ी कंपनियों को चलाने के लिए सौर ऊर्जा या पवन ऊर्जा आदि का प्रयोग करना चाहिए.

. कारखानों की चिमनीओं पर विषैला फिल्टर लगाना चाहिए, जिससे वातावरण प्रदूषण मुक्त रहें.

. जहां पर अधिक धुएं वाली चिमनीया मौजूद हो वहां पर को कोलाइड टैंक बनवाने जाने चाहिए.

. अनावश्यक बिजली का प्रयोग ना करें यदि आप घर से बाहर जा रहे हैं, तो जो भी वस्तुएं इलेक्ट्रिक से चलती हैं. उन्हें ऑफ करके जाएं क्योंकि ऐसा करने से उष्मनऔर शीलता वातावरण में बनी रहेगी. एयर कंडीशन का प्रयोग तभी करें जब आपको उस की अत्यधिक आवश्यकता हो अन्यथा इसका प्रयोग ना ही करें.

. एसिड रेन प्रदूषण को बढ़ावा देने में कारों की बहुत महत्वपूर्ण भूमिका रहती है. इसीलिए हो सके तो ज्यादा से ज्यादा कार का प्रयोग ना करें. इसके लिए कुछ उपाय है , जैसे :- सार्वजनिक परिवहन, कारपुल , साइकिल और पैदल जाने का प्रयास करें.

. पर्यावरण से संबंधित सभी प्रकार के नियमों का पालन करना चाहिए.

. कोई भी बड़े प्रकार के उद्योग को स्थापित करने से पहले उससे होने वाले प्रभाव का मूल्यांकन अवश्य करना चाहिए. इससे आप पर्यावरण संबंधित समस्याओं को रोकने में अपनी अहम भूमिका निभा सकते हैं.
. वायुमंडल में उपस्थित सल्फर डाइऑक्साइड और नाइट्रोजन ऑक्साइड के उत्सर्जन में कटौती करना चाहिए.

यह भी पढ़े :-
Rain Of Diamond
Snake Island | सांपो का द्वीप
Kohinoor Ka Itihaas

Leave a Comment

4 Comments