Science Facts

Parallel Universe

parallel universe
Written by lajawabhindi.com

आज के Blog में हम Parallel Universe के बारे में थोड़ा सा बात करेंगे तथा इसके लिए जो अलग अलग Theory दी गयी है इन सबका ज़िक्र आज के Blog में किया गया गया है तथा Parallel Universe से Related कुछ सवालों के जवाब आपको इस Blog को पूरा पढ़ने पर मिल जायेंगे……..

Parallel Universe एक ऐसी विचारधारा है जिसमे यह माना जाता है कि पृथ्वी के अलावा भी और ऐसे अनेक पृथ्वी जैसे ग्रह है जहाँ लोग रहते है और वो बिलकुल मेरी , आपकी तरह ही या आप ये कह सकते है कि वह हम ही है जो हमारी इच्छाओ को दूसरे ब्रह्माण्ड में पूरी करते है ! बस हमे उनके बारे में नहीं पता है ! जैसे अगर आप एक डॉक्टर बनना चाहते है और आप एक इंजीनियर बन गए है तो हो सकता है जो दूसरे ब्राह्मण में जो आप हो वो एक डॉक्टर बन गए हो या अगर आप किसी खेल में अच्छे हो तथा आपको किसी कारण से अपना खेल छोड़ कर पढाई में Career बनाना पड़ रहा है तो दूसरे ब्रह्माण्ड वाले जो आप है वो खेल में आपने Career बना चुका हो या अभी आपने Career बनाने को सोच रहा हो या फिर आप अभी शायद पैदा भी न हुआ हो, ये सब हो सकता है !

Parallel Universe है या नहीं इसके अभी तक सबूत नहीं मिले है लेकिन हमारे Scientists कोशिश कर रहे है सबुत इक्टठा करने की ! लेकिन खगोलशास्त्रियो ने Parallel Universe को समझाने के लिए इसको 4 भागों में विभाजित किया है :-
  1. पहले Theory के अनुसार :- हम Space का आकार नहीं जानते है ! लेकिन एक Theory के अनुसार Space का आकार Flat है और अनंत है ! अगर ऐसा है तो कई ब्रह्माण्ड भी हो सकते है अगर ऐसा है तो कई आकाशगंगाए भी होगी, कई सूर्य भी होंगे कई पृथ्वी भी होगी और कई आप और हम जैसे लोग भी होंगे !
  2. दूसरी Theory के अनुसार :- इसका जन्म Eternal Inflation Theory के कारण हुआ है जिसके अनुसार जो ब्रह्माण्ड है वो एक बुलबुले के अंदर है तथा ये जो बुलबुले है वो आपस में जुडकर तथा अलग हो कर नए ब्राह्मण का जन्म होता है तथा सभी ब्राह्मणो में Physics के अलग अलग नियम होते है ! अगर ऐसा है तो पूरी संभावना है कि कई Parallel Universe भी मौजूद होंगे !
  3. तीसरी Theory के अनुसार :- इसका जन्म Quantum Physics की Theory के अनुसार हुआ है जिसके अनुसार जो Parallel Universe है वो हमारी ही दुनिया में मौजूद है लेकिन दूसरे आयाम में है ! Scientists ने इसको साबित करने के लिए Electrons का Use किया है तथा बताया है कि एक Electrons एक समय में कई स्थानों पर मौजूद हो सकता है तो हम भी तो Electrons से ही बने है तो इसकी पूरी संभावना है कि Parallel Universe है !
  4. चौथी Theory के अनुसार :- यह Theory Mathmatical Democracy theory पर आधारित है तथा इसमें तीनो Level का Combined Form है इसके अनुसार अलग अलग ब्रह्माण्ड में Maths भी अलग अलग प्रकार की है तथा Maths के लिए मनुष्य का होना जरुरी नहीं है तो इसकी पूरी संभावना है कि Parallel Universe है !

Scientists ने Parallel Universe के बारे में पता लगाने के लिए एक Experiment किया है जिसको Large Hadron Collider कहते है और इसमें Microparticles को आपस  में टकराया जाता है जिसके द्वारा ऐसे Particle का पता चला है जिसमे Gravity को ले जा सकता है तथा इसको Graviton का नाम दिया गया है ये Particles अचानक गायब हो सकते है तथा अचानक दिख सकते है ! Scientists का मनाना है कि Graviton ऐसे Particles है जो हमे Parallel Universe के बारे में बता सकते है लेकिन इनको बनाना तथा इनकी देख रेख करना बहुत ही मुश्किल का काम है !

Parallel Universe पर आधारित एक कहानी है लेकिन यह कितना सच है इसके बारे में संदेह है:-

उत्तराखंड के नैनीताल इलाके के एक निवासी जिसका नाम वासुभानोठ था वो नैनीताल में कपडे का व्यापारी था लेकिन 13 अप्रैल 1965 को एक ऐसी घटना घटी जिसने उसकी जिंदगी को पूरी तरीके से बदल दिया 13 अप्रैल 1965 को वासु नैनीताल से आपने पैतृक गाँव सतराली के लिए निकला जहाँ उनका एक पैतृक घर था ! आपने गाँव से पहले वो एक धुँए के गुबार के अंदर से गुज़रा तथा आगे बढ़ता गया तो उसको आपने गांव दिखा जो थोड़ा अजीब लग रहा था जैसे ही वो गांव के अंदर पंहुचा उसको गाँव के अंदर जो नहर थी वो नहीं दिखाई दी लेकिन वासु ने उसको नज़रअंदाज़ करते हुए आगे बढ़ गया लेकिन जब वो घर पंहुचा तो उसको घर के अंदर एक ऐसा व्यक्ति मिला जिसको वो नहीं जानता था वासु ने आपने चाचा के बारे में पूछा तो उन्होंने बताया कि उसके चाचा जी कि मौत 30 साल पहले ही हो चुकी है वासु को बढ़ा आश्चर्य हुआ क्यूंकि पिछले ही साल वो आपने चाचा से मिलकर गया था वासु ने गाँववालो से पुछा तो गाँव वाले ने बताया कि वो लोग पिछले कई सालो से उसी घर में रह रहे है तथा ये भी बताया कि उसके चाचा का पूरा परिवार 30 साल पहले ही मर चुके है ! वासु बहुत चिंता में था तथा वापस आते समय में उसी धुँए को चीरता हुआ बाहर निकला तथा जल्दी से नैनीताल पहुंचकर सारी घटना आपने पापा तथा Local पुलिस को दी ! अगले दिन सब लोग सतराली गाँव के लिए निकले जब वो गाँव के पास पहुंचे तो उनको कोई धुंए का गुबार नहीं दिखा तथा जैसे ही वो लोग गाँव के अंदर पहुंचे वहा पर उनको नहर भी दिखी तथा गाँव के सभी लोगों ने वासु तथा उसको पापा को पहचान भी लिया ! लेकिन जब वो आपने पैतृक घर पंहुचा तो अबकी बार घर उसके चाचा ने खोला जिसको देख कर सब आश्चर्य चकित रह गए एक तरफ तो वासु बहुत खुश था दूसरी तरफ इन सारी घटना से वासु आश्चार्य चकित था पुलिसवालो तथा वासु के पिता को लगा कि वासु का दिमागी संतुलन बिगड गया है इस घटना को Local अखबार में भी छापा गया लेकिन ये घटना कितनी सच है इसके बारे में संदेह है !

धन्यवाद……

 

About the author

lajawabhindi.com

1 Comment

Leave a Comment